e-Magazine

अभाविप

अभाविप के शिल्पकार प्रा. यशवंत राव केलकर

वर्ष 1947 में हजारों वर्षों की गुलामी के पश्चात 15 अगस्त को हमें खंडित आजादी मिली। स्वाधीन होने के पश्चात भारत के सामने सबसे बड़ी चुनौती युवाओं की ऊर्जा का नियोजन और भारत की आगामी दिशा तय करना था। स्व...

DUSU officials interacted with the students under the ‘Dusu in Campus’ campaign

New Delhi : The Delhi University Students’ Union office-bearers visited the Dyal Singh Morning and Dyal Singh Evening College of Delhi University on Thursday under the ‘DUSU in Campus̵...

‘ध्येय-यात्रा: अभाविप की ऐतिहासिक जीवनगाथा’ पुस्तक का विमोचन 15 अप्रैल को

नई दिल्ली।  विश्व के सबसे बड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के 75 वर्षों की यात्रा पर दो खंडों में प्रकाशित हो रही बहुप्रतीक्षित पुस्तक ‘ध्येय-यात्रा: अभाविप की ऐतिहासिक जीवनगाथा’ का विमोच...

दिल्ली : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य पर अभाविप द्वारा ‘यशस्विनी’ कार्यक्रम का आयोजन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉन्फ्रेंस हॉल में ‘यशस्विनी’...

शिक्षा से स्त्री सशक्तिकरण का मार्ग दिखाने वाली सावित्रीबाई फुले

विश्व के हर समाज में चेतना और जड़ता का चक्र अनवरत चलता रहता है| चेतना के उत्कर्ष के काल में समाज प्रगति करता है| समाज के सभी व्यक्ति सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक, शैक्षिक और अध्यात्मिक रूप से विकास करते ह...

पराक्रम के 50 वर्ष

भारतीय सेना ने यूं तो पाकिस्तान को कई बार धूल चटाये हैं चाहे 1947 हो,1965 हो, 1971 हो या  1999 का कारगिल युद्ध। हर बार पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी परंतु पाकिस्तान है कि अपने नापाक इरादे से बाज नहीं...

अभाविप की लखनऊ विश्वविद्यालय इकाई घोषित, प्रदीप मौर्य इकाई अध्यक्ष व अक्षय सिंह बने इकाई मंत्री

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, लखनऊ विश्वविद्यालय इकाई का पुनर्गठन लोक प्रशासन विभाग के सभागार में सम्पन्न हुआ।इकाई की निवर्तमान अध्यक्षा प्रियंका ठाकुर द्वारा इकाई भंग की घोषणा के उपरांत चुनाव अधिकारी...

जबलपुर में होगा अभाविप का 67 वां राष्ट्रीय अधिवेशन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का 67 वां राष्ट्रीय अधिवेशन जबलपुर में होगा, जिसका शुभारंभ 24 दिसंबर को होगा एवं समापन 26 दिसंबर को होगा। तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में देश भर के छात्रों का समागम होगा...

गुरु नानक की शिक्षा के सूत्र से बंधा सनातन बंधुत्व

भारत अन्य अनेक देशों की तरह विशेष प्रकार की ऐतिहासिक और राजनीतिक परिस्थितियों से नहीं जन्मा और न ही यह किसी राजपरिवार या समुदाय की राजनीतिक इच्छाशक्ति का प्रतिफल है| यह एक नैसर्गिक सांस्कृतिक-भौगोलिक...

#JanajatiGauravDiwas : भारत का गौरव है जनजाति समाज जीवन दर्शन

भारत विविधताओं से भरा देश है, परन्तु उस विविधता में भी एकता का दर्शन करवाने वाली संस्कृति, सभ्यता यहां की विरासत है। भारत की संस्कृति विश्व के कल्याण का संदेश देते हुए भारत वासियों में जीव मात्र के कल...

×