e-Magazine

swami vivekanand

भारत के पुनरुत्थान में वैश्विक शांति और विकास की कुंजी को देखते थे स्वामी विवेकानंद जी

विवेकानंद जी को विदा हुए 118 साल हो चुकें हैं, परन्तु आज भी उनका चित्र देश में सबसे आसानी से पहचाने जाने वाली छवियों में से हैं| एक बहुत ही बड़ी संख्या में युवा उन्हें अपना प्रेरणाश्रोत मानते हैं, उनकी...

संस्कार युक्त युवा – नशा मुक्त युवा – विक्रांत खंडेलवाल

किसी भी देश का वर्तमान एवं भविष्य, युवाओं के व्यक्तित्व पर निर्भर करता है । जिस प्रकार विशाल ऊंची इमारत का निर्माण उसके मजबूत नींव पर ही संभव है उसी प्रकार देश की प्रगति और विकास,  संस्कारवान और कर्मठ...

×