e-Magazine

अभाविप कार्यकर्ताओं पर जेएनयू में हमला, 25 से अधिक कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं पर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़े लोगों ने बहुत क्रूरतम ढंग से लाठी-डंडों और पत्थरों से हमला किया, जिसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से चोटिल हुए हैं तथा जेएनयूएसयू चुनाव में अभाविप के प्रत्याशी रहे तथा अभाविप जेएनयू के वर्तमान में सचिव मनीष जांगिड़ का हाथ वामपंथियों के हमले में टूट गया है ‌। ये बातें अभाविप ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कही है। विज्ञप्ति में परिषद ने कहा है कि वामपंथी लगातार कुछ फेक व्हाट्सएप ग्रुप के स्क्रीनशॉट तथा अपने ही नकाबपोश वामपंथी साथियों को अभाविप का बताकर कुछ तस्वीरें साझा कर रहे हैं, जो कि फेक हैं तथा उनके स्वयं के लोगों की हिंसा में लिप्त होने को उजागर कर रही हैं । पिछले 3 दिनों से जेएनयू में वामपंथी लगातार गतिरोध बनाए हुए थे तथा वामपंथी गुंडों ने जेएनयू के रजिस्ट्रेशन कर रहे आम छात्रों को बुरी तरह से पीटा तथा उनके हाथ से रजिस्ट्रेशन फॉर्म लेकर फाड़ दिए । जेएनयू में वामपंथी गुंडों ने वर्तमान में पढ़ाई लिखाई का माहौल पूरी तरह से खराब कर दिया है तथा पूरा माहौल लेफ्ट की हिंसा की वजह से भयग्रस्त हो गया है ।

अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि, “जेएनयू में पढ़ रहे अभाविप के कार्यकर्ताओं पर जिस तरह आज जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हमला हुआ, वह बहुत ही निंदनीय है । हिंसा का परिसरों में बिल्कुल कोई स्थान नहीं है लेकिन वामपंथी परिसरों में लगातार हिंसा फैला रहे हैं, जिससे आम छात्र बुरी तरह से भयभीत है । अभाविप प्रशासन से मांग करती है कि हिंसा में संलिप्त वामपंथी गुंडों के खिलाफ त्वरित एवं कड़ी कार्रवाई की जाए ।”

READ  अंतिम वर्ष के छात्रो की परीक्षाएं छात्र हित में, स्वरूप व अंतराल बढ़ाने के पर्याय पर हो विचार : अभाविप
×
shares