e-Magazine

रांची विश्वविद्यालय छात्रसंघ के सभी पदों पर अभाविप की जीत

59 साल के इतिहास में पहली बार किसी संगठन के प्रत्याशी को निर्विरोध चुना गया है

झारखंड के प्रसिद्ध रांची विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के उम्मीदवारों ने क्लीन स्वीप किया । बता दें कि अभाविप के द्वारा पांचो पदो पर पर्चा दाखिल करने के बाद किसी भी छात्र संगठन ने पर्चा नहीं भरा क्योंकि बहुमत के आंकड़ों से वे कोसों दूर थे । इस प्रकार सभी पांचो पदो अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, उपसचिव और संयुक्त सचिव पद पर विद्यार्थी परिषद् के उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए । अध्यक्ष पद पर नीरज कुमार, उपाध्यक्ष पर बरखा कुजुर, सचिव पर अमिशा सिन्हा, उप सचिव पद पर सौरभ कुमार एवं संयुक्त पद पर डबलू भगत की जीत हुई है । रांची विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में 59 वर्षों का  रिकार्ड टूट गया । इससे पहले सभी पदों पर निर्विरोध निर्वाचन कभी नहीं हुआ था । पहली बार किसी पद के लिए दूसरे संगठन के उम्मीदवार ने पर्चा दाखिल नहीं किया । इसके पीछे वजह यह रही कि चुनाव जीतने के लिए अभाविप के पास पर्याप्त आंकड़े थे ।

अप्रत्याशित जीत के बाद अभाविप कार्यकर्ताओं में खुली की लहर है, रांची से लेकर मुंबई और दिल्ली तक इस जीत का जश्न मनाया गया । जीत पर खुशी जाहिर करते हुए प्रांत संगठन मंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने कहा कि यह जीत संगठन के असंख्य कर्मठ कार्यकर्ताओं के त्याग, निष्ठा, समर्पण और अथक परिश्रम की बदौलत मिली है । वहीं प्रदेश मंत्री रौशन सिंह ने कहा कि रांची विश्वविद्यालय के छात्रों ने साबित कर दिया कि राष्ट्रवाद के आगे कोई भी वाद नहीं चलेगा । उन्होंने कहा कि अभाविप एक मात्र छात्र संगठन है जो 365 दिन परिसर में रहती है ।

READ  Arrest of Arnab Goswami an emergency-like attack on fundamental freedom: ABVP
×
shares