e-Magazine

हंदवाडा में आतंकियों से मुठभेड़ में वीरगति प्राप्त हुए जवानों को अभाविप ने दी श्रद्धांजलि

अजीत कुमार सिंह

नई दिल्ली। एक ओर जहां दुनिया कोरोना रूपी महामारी से त्रस्त है वहीं पड़ोसी देश पाकिस्तान इस अंतरराष्ट्रीय संकट में भी अपने नापाक इरादों से बाज नहीं आ रहा है। जम्मू – कश्मीर के हंदवाड़ा में आंतकियों से मुठभेड़ में कई पराक्रमी सैनिक वीरगति(शहीद) को प्राप्त हो गये। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद(अभाविप) ने वीरगति को प्राप्त हुए जवानों के प्रति अश्रुपुरित श्रद्धाजंलि अर्पित की है।

अभाविप, जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में पाक प्रायोजित आतंकियों से मुठभेड़ में वीरगति प्राप्त (शहीद) हुए पराक्रमी सैनिकों कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राजेश, लॉन्स नायक दिनेश एवं जम्मू कश्मीर पुलिस के सब-इंस्पेक्टर शकील काज़ी को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि अर्पित करती है। हंदवाड़ा में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकियों द्वारा एक घर में बंधक बनाए नागरिकों को 21 राष्ट्रीय राइफल्स के कर्नल आशुतोष शर्मा के नेतृत्व में सुरक्षित निकालने गए दस्ते ने उत्कृष्ट वीरता, सूझ-बूझ का प्रदर्शन करते हुए सभी बंधकों को छुड़ाने में कामयाबी हासिल की तथा दोनों आतंकियों को भी मार गिराया ।

ऐसे किसी भी ऑपरेशन में भारतीय सेना का उद्देश्य बिना किसी आम नागरिक को चोट पहुंचाए सुरक्षित बाहर निकलने का होता हैं, जिसमें सेना के जवान अपनी जान की बाज़ी लगाकर ऑपरेशन को अंजाम देते हैं । राष्ट्र सेवा के इस कार्य में अदम्य साहस का परिचय देते हुए अपने जीवन की आहुति देने वाले सभी वीरों के प्रति देश हमेशा कृतज्ञ रहेगा।

अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री सुश्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि, “कोरोना से उपजी संकट की इस घड़ी में जहां राष्ट्र एक तरफ महामारी से जूझ रहा है, वहीं दूसरी तरफ हमें जेहादी मानसिकता का दंश भी झेलना पड़ रहा है। हंदवाड़ा में कर्नल शर्मा और उनके दल की शहादत की खबर अत्यंत दुखदायी है। हमारी संवेदनाएं सभी शहीदों के परिवार के साथ हैं। जहाँ एक ओर समूचा देश इस क्षति से शोकाकुल है, वहीं समाज के कुछ राष्ट्रद्रोही तत्व आतंकियों की इस कायरतापूर्ण हरकत का जश्न मना रहे हैं। अभविप आशा करता है, देश के बाहर और अंदर, दोनों ओर छुपे शत्रुओं से सरकार कड़ाई से निपटेगी।”

READ  अभाविप तथा डूसू ने स्टूडेंट्स फंड से वेतन दिए जाने के विरुद्ध आयोजित की प्रेस वार्ता
×
shares