e-Magazine

सीयूईटी के लिए पेड कोचिंग शुरू करने के खिलाफ अभाविप ने किया विरोध प्रदर्शन

छात्रशक्ति डेस्क

नई दिल्ली । अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने रामानुजन महाविद्यालय प्रशासन के खिलाफ शनिवार को जमकर प्रदर्शन किया। दरअसल, रामानुजन महाविद्यालय द्वारा दिनांक 13 मई को अवैधानिक रूप से सीयूइटी के संबंध में क्रैश कोर्स आयोजित कराने को लेकर पोस्टर के माध्यम से सूचना जारी की गयी थी, जिसमें वर्णित था की जो छात्र केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित होना चाहते हैं। वो 12,000 रुपये का शुल्क दे कर पाठ्यक्रम को खरीद कर पढ़ सकते हैं। विद्यार्थी परिषद ने आरोप लगाया है कि रामानुजन महाविद्यालय द्वारा अनैतिक रूप से सीयूईटी क्रैश संचालित किये जा रहे हैं, जिसका शुल्क 12 हजार निर्धारित किया गया है। महाविद्यालय के इस कदम के खिलाफ विद्यार्थी परिषद ने महाविद्याय परिसर के बाहर धरना प्रदर्शन किया तथा महाविद्यालय के प्राचार्य को ज्ञापन सौंपा। अभाविप कार्यकर्ताओं ने कहा कि विरोध को देखते हुए नरमी दिखाते हुए प्रशासन ने अपने तुगलकी फरमान को वापस लेने का आश्वासन दिया हैं।

अभाविप के प्रांत मंत्री अक्षित दहिया ने कहा, “सीयूईटी से संबंधित क्रैश कोर्स (कोचिंग) के लिए 12000 फीस वसूलकर पब्लिक फंडेड इंस्टिट्यूट रामानुजन कॉलेज प्रशासन द्वारा निजी लाभ के लिए व्यावसायिक उपयोग करने की इजाज़त देना छात्रों व विद्यार्थी के अधिकारों का हनन है, जिसका अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कड़े शब्दों में आलोचना करती है। जहां अभाविप के कार्यकर्ता निशुल्क छात्रों को सीयूईटी  की तैयारी करा रहे हैं वहीं रामानुजन कॉलेज द्वारा छात्रों से हजारों रुपए लेकर पब्लिक फंडेड इंस्टिट्यूट में कोचिंग चलाया जाना दुखद है। रामानुजन महाविद्यालय द्वारा सरकारी कॉलेज को प्राइवेट लिमिटेड बनाए जाने के विरोध में अभाविप महाविद्यालय प्रशासन के विरुद्ध प्रदर्शन कर रही है और अगर आगे भी छात्र हितों से कोई खिलवाड़ करने की कोशिश करता है तो अभाविप उसका सदैव विरोध करेगी” ।

READ  #66ABVPConf : हम शक्ति की अराधना विजय के लिए नहीं बल्कि निर्बलों की सुरक्षा के लिए करते हैं – भय्या जी जोशी
×
shares