e-Magazine

शैक्षणिक भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज़ उठा रहे छात्र-छात्राओं पर तेलंगाना पुलिस की दमनात्मक कार्रवाई निंदनीय: अभाविप

छात्रशक्ति डेस्क

तेलंगाना में शैक्षणिक संस्थानों में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरोध में लोकतांत्रिक प्रदर्शन कर रही अभाविप तेलंगाना की प्रदेश मंत्री कुमारी झांसी सहित अन्य छात्रों के साथ पुलिस के दुर्व्यवहार, मारपीट तथा झूठे मुकदमे दर्ज करने की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कड़ी निंदा करती है। तेलंगाना में पुलिस छात्र-छात्राओं के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार कर रही है, जो कि अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।

ध्यातव्य हो कि अभाविप तेलंगाना प्रदेश इकाई की प्रदेश मंत्री कुमारी झांसी व अन्य छात्र-छात्राओं द्वारा राज्य में अवैधानिक तरीके से चल रहे गुरुनानक विश्वविद्यालय और श्रीनिधि विश्वविद्यालय पर कार्रवाई सुनिश्चित करने हेतु बीती 11 मई को तेलंगाना उच्च शिक्षा परिषद् कार्यालय पर शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन हुआ था, अवैधानिक तरीके से चल रही इन संस्थाओं के चलते 4 हज़ार से ज्यादा छात्र-छात्राओं के साथ अन्याय किया हो रहा है। इस धरना प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया गया, उन्हें सड़क पर घसीटा गया और बाद में पुलिस स्टेशन ले जाकर मारपीट हुई। इस पुलिसिया कार्रवाई से कुमारी झांसी को गंभीर आघात पहुंचा है, कुमारी झांसी एक चिकित्सालय में उपचाराधीन हैं।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के राष्ट्रीय महामंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने कहा कि तेलंगाना में इस वक्त बेलगाम तानाशाह सरकार बैठी हुई है , जिसके चलते छात्रों तथा युवाओं को लोकतांत्रिक प्रदर्शन करने और भ्रष्टाचार के विरोध में आवाज उठाने के लिए टारगेट किया जा रहा है, युवाओं पर इस तरह की दमनात्मक कार्रवाई तेलंगाना सरकार के वास्तविक युवा विरोधी चरित्र को सामने लाती है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, छात्र-छात्राओं पर पुलिस ज्यादती करने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मॉंग करती है।

READ  विभिन्न मांगों को लेकर केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से मिला अभाविप शिष्टमंडल, ऋतुमति अभियान से कराया अवगत
×
shares