e-Magazine

करौली से निकली अभाविप की न्याय पदयात्रा जयपुर पहुंची, कल होगी न्याय महासभा

अजीत कुमार सिंह

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की करौली से 3 अगस्त को निकली ‘न्याय पदयात्रा’ गंगापुर, लालसोट, बस्सी से होते हुए आज जयपुर पहुंची। जयपुर में न्याय यात्री ‘घाट की घुणी’ में विश्राम करेंगे, जिसके पश्चात यह यात्रा कल बृहस्पतिवार राजस्थान विश्वविद्यालय पहुंचेगी जहां हज़ारों की संख्या में छात्र ‘न्याय हुंकार रैली’ में शामिल होंगे। इस न्याय हुंकार में अभाविप के राष्ट्रीय महामंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल, राष्ट्रीय मंत्री हुश्यार मीणा सहित बड़ी संख्या में युवा शक्ति शामिल होगी।

3 अगस्त से शुरू हुई यह न्याय पदयात्रा राजस्थान में व्याप्त भ्रष्टाचार, पेपर लीक, महिला के प्रति बढ़ते अपराधों के विरुद्ध निकाली गई है । इस यात्रा ने करौली से जयपुर तक 181 किलोमीटर की लंबी दूरी तय की है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार दुष्कर्म के सर्वाधिक मामले राजस्थान से आते हैं। महिला संबंधी अपराधों की संख्या की दर प्रतिवर्ष बढ़ रही है। युवाओं का एक बड़ा तबका बेरोज़गारी की मार झेल रहा है। न्याय यात्रा आम जनों से संवाद और जन जागरण करते आगे बढ़ी है, जिसे बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं समेत समाज के प्रत्येक वर्ग का समर्थन प्राप्त हुआ है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने कहा कि राजस्थान की गहलोत सरकार का महिला-युवा विरोधी चरित्र जनता से छुपा नहीं है। विकास के नाम पर सरकार के लोग अपनी निजी संपत्ति को बढ़ा रहे हैं। प्रदेश में हर कोने से दुष्कर्म की दुखद घटनाएं रोज़ सामने आ रहीं हैं और कई मामलों में प्रदेश सरकार का संरक्षण प्राप्त लोग अपराधी निकले। अभाविप की ‘न्याय हुंकार रैली’ राजस्थान सरकार की विफलताओं का पोल खोलने वाली होगी।

READ  #JusticeForLavanya : अभाविप राष्ट्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह समेत दर्जनों कार्यकर्ताओं को भोपाल पुलिस ने किया गिरफ्तार

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय मंत्री होशियार सिंह मीणा ने कहा कि  प्रदेश सरकार सत्ता के नशा में चूर है। प्रदेश में मूलभूत सुविधाओं की कमी है,  सरकार नई समस्याओं को बढ़ावा दे रही है। दुष्कर्म जैसे अमानवीय अपराधों की प्रदेश में बढ़ रही संख्या प्रदेश सरकार की देन है। आज प्रदेश में युवा वर्ग रोज़गार की समस्या से व्यथित है, जिन रिक्त पदों पर भर्तियां भी पूर्ण होती हैं उनमें प्रतिभावान अभ्यर्थियों की जगह सरकार अपने ही लोगों का भ्रष्ट ढ़ग से नियोजन करा रही है। अभाविप की न्याय यात्रा ने सरकार की नींदें उड़ा दी है, यदि अभी इन मसलों के निवारण हेतु कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए तो सरकार को  युवा व छात्र कड़ा जवाब देंगे।

×
shares