e-Magazine

आरजेडी कैडर की तरह काम कर रही बिहार पुलिस, पुलिस लाठीचार्ज में 13 छात्र घायल : अभाविप

बिहार की बदहाल शिक्षा व्यवस्था में सुधार की मांग को लेकर अभाविप के नेतृत्व में आंदोलन कर रहे छात्रों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में दर्जन भर विद्यार्थी घायल हो गए। अभाविप ने पुलिस की इस कार्रवाई को बर्बरता करार दिया और कहा कि बिहार की पुलिस राष्ट्रीय जनता दल के कैडर की तरह काम कर रही है।
अजीत कुमार सिंह

बिहार में बदहाल होती शिक्षा व्यवस्था में सुधार करने की मांग की कीमत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को अपने ऊपर हुए बर्बर लाठियों के प्रहार से चुकाना पड़ा। पुलिसिया कार्रवाई में किसी कार्यकर्ता के सिर फटे तो किसी के हाथ-पैर में चोटें आई। मामला बिहार के आरा शहर स्थित वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय (वीकेएसयू) के परीक्षा विभाग में शनिवार को सीनेट बैठक के दौरान हुए अभाविप के नेतृत्व में विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस द्वारा किए गए लाठी चार्ज की है। दरअसल, शनिवार को विवि में सीनेट की बैठक हो रही है छात्र अपने मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। छात्रों का जत्था अपनी मांगों से कुलाधिपति को अवगत कराना चाह में बैठक स्थल पर जाना चाह रहे थे। जानकारी के मुताबिक प्रदर्शन कर रहे छात्रों की यह मांग पुलिस को नागवार गुजरी और पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर बर्बर तरीके से लाठी बरसाना शुरू कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार  कुछ देर के लिए पूरा परिसर रणक्षेत्र में बदल गया। छात्र-छात्राएं भागते और पिटते दिखाई दिए, परिसर में मौजूद गड्ढे और नाले में भी गिरते दिखाई दिए। इस घटना में एक छात्रा सहित आधा दर्जन प्रदर्शनकारी घायल हो गए। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने इस घटना पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि बिहार पुलिस राष्ट्रीय जनता दल के कैडर के रूप में कार्य रही है, पुलिस द्वारा छात्रों पर बर्बरतापूर्वक किया गया लाठीचार्ज, निंदनीय है।

महिला सिपाही होते हुए छात्रा पर लाठी बरसाते दिखे थाना प्रभारी 

मीडिया में छपे खबर के अनुसार महिला सिपाही होते हुए भी थाना प्रभारी जो पुरूष हैं, छात्रा पर लाठी बरसाते देखे गए। एबीपी ऑनलाइन के अनुसार उदावंतनगर के थाना प्रभारी ने लड़की पर लाठियां बरसा दी।  वो भी एक महिला सिपाही के रहते हुए। वहां महिला सिपाही भी मौजूद थी लेकिन छात्रा पर उदवंतनगर नगर थाना प्रभारी लाठियां बरसाते दिखे।  पुलिस ने छात्रों को गंदे पानी वाले गड्ढे में भी ढकेल दिया।

READ  डूसू चुनाव के लिए अभाविप प्रत्याशियों ने माँगा समर्थन

बिहार की बदहाल शिक्षा व्यवस्था को लेकर आंदोलन कर रहे अभाविप नेतृत्वित छात्रों पर बिहार पुलिस का बर्बर लाठीचार्ज निंदनीय

बिहार में बदहाल हो रही शिक्षा व्यवस्था में सुधार की मांग को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता लगातार प्रयासरत है। इसी क्रम में वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा में व्याप्त समस्या में सुधार की मांग को लगातार आंदोलनरत थी। अभाविप का कहना है कि वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा लंबे समय से छात्रों की समस्याओं को दरकिनार किया जा रहा था, जिससे छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हो रही थी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा अपनाए जा रहे इस रवैये के विरोध में 18 सूत्री मांग को लेकर शनिवार आंदोलन कर रही थी। आंदोलन के क्रम में बिहार पुलिस द्वारा विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं पर बर्बरतापूर्वक लाठी चार्ज किया गया जिसमें 13 छात्र घायल हुए हैं, प्रदर्शन में शामिल बिहार की बेटियों के साथ पुलिस ने बदसलूकी की है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की 18 सूत्री मांग को लेकर आंदोलन विश्वविद्यालय सीनेट बैठक के दौरान किया जा रहा था। आंदोलनरत छात्रा-छात्रों पर बिहार पुलिस ने लाठीचार्ज किया तथा हिंसा की। 18 सूत्री माँग में मुख्य रूप से छात्रसंघ चुनाव की तिथि अविलंब घोषित करने, महाराजा कॉलेज में लॉ की पढ़ाई शीघ्र शुरू करने, विश्वविद्यालय में शिक्षकों व कर्मचारियों की कमी पूरी करने, लंबित परीक्षाओं की तिथियां शीघ्र घोषित करने व परीक्षा परिणाम में आई त्रुटियों को ठीक करने, विद्यार्थियों के लिए नए छात्रावासों का निर्माण करवाने आदि विषय को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन के विरुद्ध विद्यार्थी परिषद का यह आंदोलन हो रहा है।

READ  रुपये या साग-सब्जी के माध्यम से संक्रमण की संभावना नहीं : डॉ कन्नान

अभाविप बिहार प्रांत मंत्री अभिषेक यादव ने कहा कि वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी आरा में सीनेट बैठक के दौरान छात्र हितों की 18 सूत्रीय मांग को लेकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहें अभाविप कार्यकर्ताओं पर बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज करना बिहार सरकार का अत्यंत निंदनीय और तानाशाही कृत्य है। नीतीश कुमार के कुशासन के कारण बिहार में शिक्षा क्षेत्र की हालत प्रतिदिन खस्ता होती जा रही है। बिहार सरकार, पुलिस की लाठी का दुरुपयोग छात्रों, युवाओं, महिलाओं सहित बिहार की जनता की आवाज दबाने के लिए कर रही है।

अभाविप के राष्ट्रीय महामंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने कहा कि बिहार की वर्तमान सरकार युवाओं की आशाओं को कुचलने का काम कर रही है। विश्वविद्यालयों में पाठ्यक्रम समय से पूरे नहीं हो रहे, तीन वर्षीय कोर्स पांच से छः वर्षों में पूरे हो रहे हैं। हर तरफ पलायन की स्थिति बनी हुई है, लेकिन राज्य सरकार सोई हुई है। छात्रों-युवाओं की उचित मांगों पर पुलिस लाठीचार्ज कर रही है, बिहार की बदहाल शिक्षा व्यवस्था को सुधारने की मांग को लेकर विद्यार्थी परिषद का आंदोलन और अधिक तेज होगा।

×
shares