e-Magazine

#Justice4Sandeshkhali : अभाविप ने राजस्थान विवि इकाई ने किया ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन, सक्षम अधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

छात्रशक्ति डेस्क

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद राजस्थान विश्वविद्यालय इकाई द्वारा पश्चिम बंगाल के उत्तर चौबीस परगना जिले के संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस नेताओं द्वारा महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार, जमीन कब्जाने तथा अपराध से भयमुक्त वातावरण निर्माण कर स्थानीय हिंदू परिवारों को पलायन करने को मजबूर करने के विरुद्ध देशव्यापी प्रदर्शन किया। केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य भारत भूषण यादव ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी लगातार जनविरोधी नीतियों को बढ़ावा दे रही हैं तथा भ्रष्टाचारियों व अपराधियों का संरक्षण कर रही हैं। पश्चिम बंगाल में तुष्टीकरण की नीति से आम जनमानस त्रस्त है, एक ओर राज्य सरकार संरक्षित भ्रष्टाचारी दूसरी ओर भ्रष्टाचार कर आम लोगों का हक मार रहे हैं,वहीं दूसरी ओर इकाई अध्यक्ष रोहित मीणा ने बताया कि कानून व्यवस्था की जर्जर स्थिति से अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। संदेशखाली में जिन पीड़िताओं के साथ ज्यादती हुई, उनमें से अधिकांशतः पिछड़े वर्ग तथा अनुसूचित जाति वर्ग की महिलाएं हैं। पश्चिम बंगाल में हो रही ज्यादतियों का विरोध देश के प्रत्येक कोने में विद्यार्थी परिषद करेगी ।अभाविप राजस्थान विश्वविद्यालय इकाई मंत्री मनू दाधीच कहा कि,” संदेशखाली में महिलाओं के साथ ज्यादती का घटनाक्रम जब सामने आया तभी से विद्यार्थी परिषद न्याय की मांग को लेकर पूरे देश के शैक्षणिक संस्थानों में प्रदर्शन कर रही है। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि महिला मुख्यमंत्री होने के बावजूद पश्चिम बंगाल की महिलाओं की सुरक्षा तथा सम्मानपूर्ण जीवन सरकार की प्राथमिकता में नहीं है। कल देश में सैकड़ों स्थानों पर अभाविप के नेतृत्व में हज़ारों विद्यार्थी प्रदर्शन करेंगे तथा सक्षम अधिकारी के द्वारा राष्ट्रपति महोदया को ज्ञापन सौंपा जाएगा।”

READ  Remembering Hindu Intellectual Yoddhā-s who Struggled for Rāmajanmabhūmī Reclamation: A Humble Tribute
×
shares