e-Magazine

गोरखपुर : अभाविप ने की एसएफआई पर बैन की मांग, सिद्धार्थन के दोषियों पर हो कठोरतम कार्रवाई

छात्रशक्ति डेस्क

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद गोरखपुर महानगर इकाई के कार्यकर्ताओं द्वारा इंदिरा बाल विहार तिराहे पर एसएफआई का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया। अभाविप ने बताया कि 18 फरवरी को वायनाड स्थित केरल वेटनरी एंड एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी के द्वितीय वर्ष के छात्र जेएस सिद्धार्थन के साथ एसएफआई के द्वारा बेरहमीपूर्वक रैगिंग करने कारण परिसर स्थित में संदिग्ध अवस्था में दुःखद मृत्यु हो गयी, केरल के शैक्षिक परिसरों में एसएफआई के गुंडों द्वारा छात्रों के साथ किये जा रहे रैगिंग की घटनाएं अत्यंत ही निन्दनीय है।

अभाविप गोरक्ष प्रांत मंत्री मयंक राय ने कहा कि यह अत्यंत ही दुर्भाग्य की बात है कि केरल के कॉलेज कैंपसों में एसएफआई की गुंडानीति चरम पर है। एसएफआई के गुंडों द्वारा केरल वेटनरी एंड एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी के द्वितीय वर्ष के छात्र जेएस सिद्धार्थन के साथ रैगिंग की गयी, रैगिंग के दौरान छात्र को बुरी तरह से पीटा गया और एसएफआई के गुंडों के रैगिंग से त्रस्त आकर सिद्धार्थन ने आत्महत्या जैसे कृत्य को अंजाम दिया, अभाविप सिद्धार्थन को न्याय दिलाने तक संघर्ष जारी रखेगी।

अभाविप की राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद की सदस्य सौम्या गुप्ता ने कहा कि केरल के शैक्षिक परिसरों में छात्र एसएफआई के गुंडों से काफी डरा हुआ है। केरल में एसएफआई के गुंडों द्वारा सिद्धार्थन को बुरी तरह से प्रताड़ित किया गया जिसके बाद छात्र की दुःखद मृत्यु हो गयी, अभाविप न्याय की मॉंग तथा एसएफआई के गुंडों-अपराधियों की लगातार अपराध संलिप्तता को रोकने की मॉंग को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी रखेगी।

अभाविप गोरखपुर महानगर मंत्री शुभम राव ने कहा कि केरल के शिक्षण संस्थानों में एसएफआई की बढ़ती हिंसा और गुंडई अत्यंत चिंतनीय है। राज्य सरकार को ऐसे गंभीर मामलों पर विशेष ध्यान देकर दोषियों के विरुद्ध सख्त सजा सुनिश्चित करनी चाहिए।

READ  अभाविप हिमाचल द्वारा संदेशखाली महिला अत्याचार के विरुद्ध प्रदेश के 18 स्थानों पर किया गया विरोध प्रदर्शन
×
shares