e-Magazine

ABVP ने की मांग, हैदराबाद के डॉक्टर की नृशंस हत्या करने वाले दरिंदो को कड़ी सजा दे सरकार

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने हैदराबाद में महिला डॉक्टर की नृशंस हत्या पर प्रशासन के खिलाफ डीयू-जेएनयू में विरोध दर्ज कराकर मृतक डॉक्टर को श्रद्धांजलि दी ।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय तथा दिल्ली विश्वविद्यालय में हैदराबाद में नृशंस हत्या में मारी गई महिला डॉक्टर को श्रद्धांजलि अर्पण करते हुए महिला डॉक्टर को न्याय दिलाने हेतु सरकार और प्रशासन से मांग की है कि सभी दोषियों को जल्द से जल्द चिन्हित कर उन पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए।

अभाविप जे.एन.यू इकाई मंत्री मनीष जांगिड तथा इकाई अध्यक्ष दुर्गेश कुमार ने कहा कि  इस प्रकार की घटना देश को शर्मशार करने वाली है । सरकार को एवं अन्य जिम्मेदार लोगों को यह सुनिश्चित करना होगा की इस प्रकार की घटनाओं पर शीघ्र अति शीघ्र रोक लगे तथा जो इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम देने वाले राक्षसी प्रवृत्ति के लोग हैं उन्हें चिन्हित किया जाए तथा उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए । इस प्रकार की अमानवीय घटनाओं को रोकने के लिए एक कड़ा कानून लाने की आवश्यकता है । वहींअभाविप के नार्थ कैंपस विभाग के सह-संयोजक भारत शर्मा ने कहा कि आज पूरा देश इस नृशंस घटना पर अत्यंत दुखी है । हम यह आशा करते हैं कि ऐसी अमानवीय घटनाओं को रोकने के लिए सरकार और प्रशासन तो आगे आए ही इसके अलावे समाज भी ऐसे कुकृत्यों को रोकने के लिए आगे  आकर उन राक्षसी प्रवृत्ति के लोगों को चिन्हित करे, जो ऐसी अमानवीय घटनाओं को अंजाम देते हैं । हम सभी यह प्रयत्न करेंगे कि सकारात्मक सोच से ऐसे घृणित लोगों की घृणित मानसिकता को बदला जा सके ।

दरिंदगी ऐसी कि रोंगटें खड़े हो जायेंगे

READ  ABVP appeals to its activists and students for blood donation

हैदराबाद में हैवानियत की हद को पार करने वाली क्रूरतम घटना सामने आयी है। एक 26 वर्षीय युवती के साथ दुराचार कर तब नृशंस हत्या कर दी गई जब वह स्कूटी पंक्चर होने के बाद मदद की आश में खड़ी थी । वह पेशे से डॉक्टर थी, हांलाकि पुलिस ने इस मामले में चार संदिग्ध मोहम्मद आरिफ, जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नेकशवलु को गिरफ्तार किया है । इसमें मुख्य आरोपी मोहम्मद आरिफ है । पुलिस द्वारा मीडिया को दी गई जानकारी के मुताबिक डॉक्टर हर दिन की तरह अपने क्लीनिक से लौट रही थी, तभी हैदराबाद के बाहरी इलाके स्थित एक टोल प्लाजा के समीप उसकी स्कूटी पंक्चर हो गई । उसने अपनी बहन को फोन कर स्कूटी पंक्चर होने की बात बताई। बहन ने उसे स्कूटी टोल प्लाजा पर खड़ा कर कैब लेने की सलाह दी । इसी दौरान एक व्यक्ति ने उसे मदद करने की पेशकश की है, युवती ने इस बात की जानकारी दोबारा फोन कर अपनी बहन को दी और कहा कि मदद करने वाला व्यक्ति बोल रहा कि आसपास की सभी दुकानें बंद है उसकी स्कूटी को ठीक करवाने के लिए कहीं और लेकर जाना होगा ।

जानकारी के मुताबिक स्कूटी ले जाने के बाद उक्त युवती टोला प्लाजा पर ही इंतजार कर रही थी कि कुछ लोगों ने उस पर घात लगाकर हमला किया और उसे झाड़ियों में खींच लिया। और उसके साथ बलात्कार के बाद उसकी नृशंस हत्या कर शव को फ्लाइओवर के पास फेंक दिया । हत्या के बाद लाश जलाने की कोशिश भी की गई। देर रात डॉक्टर के घर नहीं लौटने पर उसके परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई । सुबह पुलिस ने उसी फ्लाईओवर के नीचे से डॉक्टर का अधजला शव बरामद किया। जानकारी के मुताबिक डॉक्टर यहां से करीब 30 किलोमीटर दूर शम्शाबाद में एक वेटनरी हॉस्पिटल में काम करती थी। वह हर दिन हैदराबाद-बेंगलुरु नेशनल हाईवे स्थित टोंडुपल्ली टोल प्लाजा पर अपना टू-व्हीलर पार्क करती थी और वहां से कैब लेकर हॉस्पीटल तक जाती थी।

×
shares