e-Magazine

दिल्ली : दो दिवसीय अभाविप प्रांत अधिवेशन संपन्न, शिक्षा, महिला सुरक्षा, पर्यावरण संबंधित विषयों पर पारित किए गए प्रस्ताव

छात्रशक्ति डेस्क

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दिल्ली का दो-दिवसीय प्रदेश अधिवेशन आज रविवार को दक्षिणी दिल्ली के शेख सराय में संपन्न हुआ। इस अधिवेशन हेतु शेख सराय में संत रविदास के नाम से एक संपूर्ण नगर बसाया गया जिसमें विभिन्न दर्शनीय पंडालों एव अस्थायी भवनों का निर्माण किया गया था। मुख्य सभागार का नाम गुरु तेगबहादुर के नाम पर रखा गया है। अधिवेशन में प्रदर्शनी भवन का भी निर्माण किया गया था जिसका नाम वीरगति प्राप्त लेफ्टिनेंट विवेक सजवान प्रदर्शनी भवन के नाम पर रखा गया था। इस प्रदर्शनी में अभाविप दिल्ली के वर्ष भर के शिक्षा एवं समाज से जुड़े कार्यों की झांकी प्रदर्शित की गई ।इस अधिवेशन में डीयू, जे. एन. यू. ,जामिया तथा संस्कृत विश्वविद्यालय से सैकड़ों छात्रों की उपस्थिति रही। अधिवेशन मे शिक्षा , महिला सुरक्षा एवं पर्यावरण विषय पर तीन प्रस्ताव छात्रों के सुझाव से पारित किये गए जिन पर वर्ष भर अभाविप कार्य करेगी।

अधिवेशन के आज का सत्र भाषण सत्र से प्रारंभ हुआ जिसमें अभाविप के राष्ट्रीय सह- संगठन मंत्री प्रफ्फुल अकांत  का उद्बोधन ‘अभाविप एवं व्यक्ति निर्माण’ विषय पर केंद्रित रहा उन्होंने कहा कि अभाविप देश के हित के लिए चलने वाला एक आंदोलन है। विद्यार्थी परिषद व्यक्ति निर्माण की एक कार्यशाला है, जो एक कार्यकर्ता को जीवन दृष्टि तथा संवेदनशीलता प्रदान करता है। परिषद राष्ट्र को एक सूत्र में बांधने का प्रयास करता है। मैं से हम की प्रक्रिया ही विद्यार्थी परिषद की पहचान है।”

दूसरा भाषण सत्र में अभाविप के राष्ट्रीय संगठन मंत्री आशीष चौहान ने ‘भारत का विमर्श’ विषय पर छात्रों को संबोधित किया। अंतिम सत्र में दिल्ली प्रदेश  की नई प्रांत कार्यकारिणी की घोषणा हुई यह कार्यकारिणी एक वर्ष तक कार्य करेगी।

READ  सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के पश्चात नीट पीजी 2022 की तिथि को आगे बढ़ाने का निर्णय ले सरकार: अभाविप

गौरतलब है कि अधिवेशन का शुभारंभ शनिवार को दिल्ली के विभिन्न शिक्षण संस्थानों से आए सैकड़ों छात्रों की उपस्थिति में लेफ्टिनेंट विवेक सजवान प्रदर्शनी का उद्घाटन कर के किया गया। अधिवेशन के पहले दिन पूर्व प्रांत मंत्री अक्षित दहिया का मंत्री प्रतिवेदन रहा जिसमें उन्होंने दिल्ली प्रांत में विद्यार्थी परिषद द्वारा वर्ष भर में किये गए कार्यों का विवरण दिया। प्रतिवेदन के बाद दिल्ली प्रांत अध्यक्ष तथा  मंत्री का चुनाव डॉ तपन बिहारी( चुनाव अधिकारी) ने किया जिसमें अध्यक्ष के रूप में डॉ अभिषेक टंडन पुनर्निर्वाचित  तथा मंत्री के रूप में हर्ष अत्री नवनिर्वाचित हुए। अधिवेशन के सफलता पूर्वक सम्पन्न होने पर नवनिर्वाचित प्रदेश मंत्री हर्ष अत्री ने कहा कि, हर वर्ष की तरह इस वर्ष का भी अधिवेशन सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। हमने इस अधिवेशन में शिक्षा, देश तथा महिलाओं की सुरक्षा से सम्बन्धित प्रस्ताव पारित किए हैं।

×
shares