e-Magazine

उ. प्र. सरकार द्वारा बेटियों को आत्मरक्षा प्रशिक्षण दिये जाने के निर्णय का अभाविप ने किया स्वागत

छात्रशक्ति डेस्क

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बेटियो को आत्मरक्षा के लिए प्रशिक्षित किए जाने के निर्णय का स्वागत किया है। अभाविप ने इस संदर्भ में प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा  है कि परिषद, सरकार के इस निर्णय का हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन करती है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में महिला सशक्तिकरण एक विराट स्वरूप ले रहा है, जिसको सरकार के इस पहले से बल मिलेगा।

सरकार के इस कदम से प्रदेश के 45 हजार से अधिक विद्यालयों में अध्ययनरत दो लाख से भी अधिक छात्राओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया जाएगा और उन्हें आत्मरक्षा के महत्व को भी समझाया जाएगा। प्रशिक्षण सत्र के साथ ही उन्हें विभिन्न सामूहिक चर्चा के माध्यम से ईव टीजिंग, साइबर बुलिंग, एसिड हमला जैसे विषयों पर भी जागरूकता प्रदान की जाएगी।

अभाविप राष्ट्रीय मंत्री साक्षी सिंह ने कहा कि देश में विभिन्न क्षेत्रों में महिलाएं प्रगति कर रहीं हैं, उनकी इस बढ़ती सहभागिता के साकारात्मक परिणाम आए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार का यह निर्णय महिलाओं को सशक्त करेगा। उन्होंने कहा कि इस तरह के कदम की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। अभाविप यह आशा करती है कि प्रदेश सरकार के साथ जो अन्य हितधारक हैं वह भी इस दिशा में पहल करेंगे, जिससे छात्राओं को हर संभव तरीके से सशक्त किया जा सके।

अभाविप द्वारा मिशन साहसी के माध्यम से छात्राओं को कई सालों से दिया जा रहा है आत्मरक्षा का प्रशिक्षण

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बेटियों को आत्मरक्षा के लिए प्रशिक्षित करने के निर्णय का चहुं ओर स्वागत किया जा रहा है परंतु अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सरकार से पहले की इस पर काम कर चुकी है। अभाविप मिशन साहसी अभियान के माध्यम से विगत कई सालों से छात्राओं को आत्मरक्षा के लिए प्रशिक्षित कर रही है। अभाविप द्वारा मिशन साहसी के तहत देश भर में लाखों – लाख की संख्या में छात्राओं की आत्मरक्षा के गुर सिखाये जा चुके हैं।

READ  ABVP appreciates UGC for Extending Fellowship Claim Deadline
×
shares