e-Magazine

#JusticeForSidharth : एसएफआई के विरोध में अभाविप मेरठ का पैदल मार्च, दोषियों पर कार्रवाई की मांग

छात्रशक्ति डेस्क

केरल के वेटनरी एंड एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी के छात्र जे.एस. सिद्दार्थन ने प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या कर लिया। सिद्धार्थन पर आत्महत्या करने के लिए विवश करने का आरोप एएफआई पर लगाया गया है। जेएस सिद्धार्थन के साथ एसएफआई कार्यकर्ताओं ने केबल तार, बेल्ट से हमला कर बुरी तरह मारपीट की तथा छात्रावास में नंगा कर परेड कराया गया। इस घटना से आहत छात्र जेएस सिद्धार्थन का शव 18 फरवरी को हॉस्टल बाथरूम में लटकता हुआ मिला था। इस जघन्य अपराध के विरुद्ध अभाविप मेरठ प्रांत द्वारा मंगलवार को पैदल मार्च का आयोजन किया गया।

अभाविप मेरठ के प्रांत सह मंत्री गौरव गौड़ ने कहा कि जघन्य घटना के बाद से ही एसएफआई के गुंडों-अपराधियों पर कार्रवाई करने एवं उसके दवारा लगातार अपराध संलिप्तता को रोकने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। आज एसएफआई की गुंडागर्दी और लाल आतंक के विरोध मे मेरठ प्रान्त के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय इकाई के कार्यकर्ताओं ने पैदल यात्रा निकाल कर व धरना-प्रदर्शन कर पीड़ित परिवारजनों को शीघ्र न्याय दिलाने और दोषियों को कठोरतम सजा देने की मांग की गई।

वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मुरादाबाद महानगर द्वारा के. जी.के कॉलेज इकाई के कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया। जबकि  केरल में SFI के गुंडे द्वारा पशु चिकित्सा विज्ञान के द्वितीय वर्ष के छात्र जे. एस . सिद्धार्थन को बुरी तरह प्रताड़ित मारपीट कर आत्महत्या मजबूर करने के मामले में विरोध प्रदर्शन किया। गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में अभाविप के नेतृत्व में छात्रों ने सिद्धार्थन को न्याय दिलाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया।

READ  छात्रों की सहायता के लिए अभाविप जेएनयू ने लगाया हेल्पडेस्क
×
shares