e-Magazine

ABVP महामंत्री प्रतिवेदन : वर्ष 2019 देश के लिए ऐतिहासिक – आशीष चौहान

अभाविप महामंत्री आशीष चौहान ने महामंत्री प्रतिवेदन के माध्यम से दिया वर्ष भर के कार्यों का लेखा – जोखा

आगरा ।  अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के  65 वें राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री आशीष चौहान ने महामंत्री प्रतिवेदन के जरिये वर्ष भर ( 2018-19 के कार्यों का उल्लेख किया । प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के पूर्व उन्होनें  ब्रज भूमि को संतो की भूमि बताते हुए अधिवेशन में हिस्सा लेने आए सभी प्रतिनिधियों का स्वागत किया  । उन्होंने बताया की साल 2019 देश के लिए ऐतिहासिक रहा । अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा एक देश एक विधान का देखा हुआ सपना पूरा हुआ, देश से अनुच्छेद 370 को हटा दिया गया ।अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए विद्यार्थी परिषद ने 1990 से विभिन्न आंदोलनों को जन्म दिया । अपने कार्यकाल में किये गये कार्यों का ब्यौरा देते हुए उन्होंने कहा कि अभाविप ने पूरे देश में 37 लाख 71 हजार 834 सदस्यता की । इस वर्ष हमने सेल्फी विथ कैंपस यूनिट अभियान को विशाल रूप देते हुए पूरे देश भर में लगभग 23 हजार 213 कॉलेज कार्यकारिणी का गठन किया । विद्यार्थी परिषद का अभियान मिशन साहसी पूरे देश वर्ष में  सबसे चर्चित रहा जिसमें लाखो छात्राओं ने पूरे देश के विभिन्न प्रांतों में इस अभियान में हिस्सा लिया । समाजिक अनुभूति के द्वारा विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने गांव गांव जाकर वहां के जीवन का अनुभव लिया ।  वोटिंग मस्ट नेशन फर्स्ट अभियान के निमित कार्यकर्ताओं ने नुक्कड़ नाटक रक्त यात्रा संगोष्ठी पत्रक उत्तरण आदि कार्यक्रम द्वारा समाज में लोगों को सौ प्रतिशत मत डालने के लिए प्रेरित किया । स्कूल बेल इनिशिएटिव के माध्यम से बेंगलुरु में कार्यकर्ताओं ने लगभग 94 प्राइमरी स्कूलों की कपड़ा रंगाई -पुताई डिजाइन एवं आदि व्यवस्थाओ को सुधारा ।

READ  नेट परीक्षाओं में अनियमितताओं का हो निवारण : अभाविप

श्री चौहान ने कहा कि विद्यार्थी परिषद ने अपने छात्रा कार्य को भी संख्या बढ़ाया । इस वर्ष विद्यार्थी परिषद द्वारा किए गए कार्य में लगभग 30% कार्य छात्राओं द्वारा किया गया । विद्यार्थी परिषद के तीनों राष्ट्रीय कार्यक्रम स्थापना दिवस, सामाजिक समरसता दिवस और राष्ट्रीय युवा दिवस को धूमधाम से मनाया गया । मणिपुर में शिक्षक दिवस को प्रतिबंधित करने के बावजूद विद्यार्थी परिषद ने पूरे प्रदेश में लगभग 3000 शिक्षकों का सम्मान किया । विद्यार्थी परिषद ने छात्र की विभिन्न समस्याएं के लिए देशभर में समय-समय पर आंदोलन भी किया ।

महामंत्री प्रतिवेदन के उपरांत केंद्रीय चुनाव अधिकारी प्रोफेसर डी.के. शाही ने इस वर्ष के विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर हुए चुनाव परिणाम कार्यकर्ताओं के सामने रखते हुए डॉक्टर एस .सुब्बैया जी को पुनः राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व राष्ट्रीय मंत्री निधि त्रिपाठी को राष्ट्रीय महामंत्री घोषित किया । कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों के साथ नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय महामंत्री का स्वागत किया  । इसके उपरांत नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ .एस सुब्बैया ने लगातार तीसरी बार राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के लिए संगठन का आभार व्यक्त किया साथ ही उन्होंने कहा कि संगठन द्वारा किसी भी जिम्मेदारी को पूरी तरह निभाने का विश्वास दिलाया । राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी जी ने खुद के राष्ट्रीय महामंत्री के तौर पर निर्वाचित होने को एक सामान्य कार्यकर्ता का सम्मान बताया ।

 

 

×
shares