e-Magazine

अभाविप ने किया ” 9 फरवरी का सच” पर पब्लिक टॉक का आयोजन

एबीवीपी जेएनयू ने जेएनयू के साबरमती ढाबे पर नये छात्रों को 9 फरवरी की घटना के बारे में बताने के लिए एक पब्लिक टॉक रखा। इसमें उस समय के एबीवीपी के संघर्षरत कार्यकर्ता ललित पाण्डेय, आलोक सिंह, तत्कालीन छात्रसंघ के संयुक्त सचिव सौरव शर्मा ने अपनी बात रखी।
परिषद के तत्कालीन मंत्री ललित पाण्डेय ने 1990 से विद्यार्थी परिषद के ऐतिहासिक संघर्ष के बारे में बताया और वामपंथी शिक्षक और छात्रसंघ के गठजोड़ के बारे में बात रखी।
पूर्व संयुक्त सचिव सौरभ शर्मा ने 9 फरवरी के दिन का विस्तृत विश्लेषण किया और बताया कि किस तरीके से तत्कालीन डीन ने ग़लत तरीके से राष्ट्रविरोधी कार्यक्रम के लिए परमिशन दी , किस तरीके से वामपंथी नेताओ ने अफजल गुरु के समर्थन मे कार्यक्रम आयोजित किया, कश्मीर को भारत से अलग करने के नारे लगाये गए।
एबीवीपी के पूर्व अध्यक्ष आलोक सिंह ने कहा कि परिषद देश की एकता अखंडता के लिए हमेशा लड़ता रहेगा।

कार्यक्रम में उपस्थित विशाल छात्र समुदाय का स्वागत करते हुये एबीवीपी अध्यक्ष शिवम चौरसिया ने कहा कि 9 फरवरी के साजिशकर्ताओं पर देशद्रोह का मुकदमा आगे बढ़ना, विद्यार्थी परिषद के संघर्षों की जीत है। हमें न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है की जीत देश के साथ खड़े होने वाले लोगों की ही होगी। समापन करते हुए एबीवीपी के मंत्री गोविन्द दांगी ने कहा कि भविष्य में विद्यार्थी परिषद किसी भी तरीके का देश विरोधी कार्यक्रम इस कैंपस में नही होने देगी।

READ  ABVP महामंत्री प्रतिवेदन : वर्ष 2019 देश के लिए ऐतिहासिक – आशीष चौहान
×
shares