e-Magazine

छत्तीसगढ़ तकनीकी विश्वविद्यालय की मनमानी, एडमिशन के नाम पर की 2400% शुल्क वृद्धि, अभाविप ने की वापस लेने की मांग

छात्रशक्ति डेस्क

जगदलपुर (छत्तीसगढ़)। कोविड के इस महामारी के दौर में पूरी दुनिया को आर्थिक  तंगी का सामना करना पड़ रहा है ऐसे समय में फीस वृद्धि करना छात्रों के ऊपर एक आर्थिक दबाव हैं।  छत्तीसगढ़ का एक मात्र तकनीकी विश्वविद्यालय है छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय भिलाई । उस तकनीकी विश्वविद्यालय में नामांकन शुल्क के नाम पर 2400 प्रतिशत की वृद्धि किया गया। पहले 100 रुपए ही शुल्क देना होता था अब छात्रों को 2500 रुपए देना होगा। शुल्क वृद्धि के बाद छात्रों का गुस्सा चरम पर है। शुल्क वृद्धि पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जोरदार प्रदर्शन किया और शैक्षिक परिसर का घेराव किया। अभाविप ने विश्वविद्यालय प्रशासन को चेतावनी भरे स्वर में कहा कि अगर शुल्क वृद्धि वापस नहीं ली गई तो प्रदेश भर में उग्र आंदोलन किया जायेगा। अभाविप ने इस संदर्भ में प्राचार्य के माध्यम से कुलपति को ज्ञापन सौंपा गया इस चेतावनी के साथ में  की अगर बढ़ी हुई फीस को कम नहीं किया गया तो पूरे प्रदेश भर में उग्र आंदोलन किया जाएगा।

छात्रों का कहना हैं तानाशाह पूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है। शुल्क वृद्धि छात्रों के ऊपर बहुत बड़ी चोट है।  इस शुल्क वृद्धि के कारण जो सुदूर वनांचल क्षेत्र में रहने वाले जो आर्थिक रूप से कमजोर छात्र है वह सब अपनी पढ़ाई छोड़ देंगे।

महाविद्यालय में व्याप्त समस्याओं को लेकर विद्यार्थी परिषद ने प्राचार्य को 9 सूत्री मांगों के तहत ज्ञापन सौंपा। इस आंदोलन में प्रमुख रूप से राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मनीष वर्मा, विभाग संयोजक अर्पित मिश्रा,गजेंद्र बघेल, राहुल झा, रितेश चौधरी,रोशन सिंह,छवी चंद्रा, खिलेश साहू,आयुष राजपूत,देवेंद्र देशमुख, विकेश बंजारे,रोशन सिंह,लोकेश नाथ,आयुष कुमार,हिमांशु जसकर, व सैकड़ों संख्या में छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

READ  एनआईआरएफ की रैंकिंग में दिल्ली विश्वविद्यालय के पांच महाविद्यालयों का शीर्ष दस स्थानों में होना डीयू छात्र परिवार के लिये गौरवपूर्ण क्षण : अभाविप

रिपोर्ट – पारसनाथ चौधरी

×
shares