e-Magazine

अभाविप की मांग, जनरल बिपिन रावत के नाम पर हो जेएनयू के राष्ट्रीय सुरक्षा अध्ययन केन्द्र का नाम

छात्रशक्ति डेस्क

नई दिल्ली । अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के राष्ट्रीय सुरक्षा अध्ययन का नाम बदलकर जनरल बिपिन रावत के नाम पर करने की मांग की है। इस बाबत अभाविप जेएनयू इकाई ने कुलपति को लिखित ज्ञापन देकर दो साल पहले बने विशिष्ट सुरक्षा अध्ययन का नाम देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाप (सीडीएस) विपिन रावत के नाम करने की मांग की है।

अभाविप जेएनयू के अध्यक्ष शिवम चौरसिया ने बताया कि देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जेएनयू में अगर जनरल बिपिन रावत केंद्र में राष्ट्रीय सुरक्षा का अध्ययन किया जाता है तो यह जेएनयू के तरफ से हमारे पहले सीडीएस को सच्ची श्रद्धांजलि होगी तथा यहां से पढ़कर राष्ट्रीय सुरक्षा के जो विशेषज्ञ तैयार होंगे वह जनरल विपिन रावत जी के विचारों को देश-विदेश में ले जाने का कार्य करेंगे। वहीं इकाई मंत्री रोहित कुमार ने बताया कि आज जेएनयू कार्यकारी परिषद की बैठक में अभाविप ने यह मुद्दा जोर-शोर से उठाया। जिस प्रकार केंद्रीय पुस्तकालय का नाम अभाविप के प्रयास के बाद डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम पर किया गया था। अब दोबारा अभाविप जेएनयू अपने सेनानायक को अकादमिक जगत में एक उचित स्थान दिलाएगी।

READ  रसोई से लेकर समाज के उच्च स्तर तक महिलाओं की भागीदारी - निधि त्रिपाठी
×
shares