e-Magazine

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक के लिए पंजाब की कांग्रेस सरकार जिम्मेदार : अभाविप

छात्रशक्ति डेस्क

जालंधर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में आज बड़ी चूक हुई है। पंजाब के सीमावर्ती जिले फिरोजपुर हुसैनीवाला में राष्ट्रीय स्मारक से करीब 22 किलोमीटर दूर प्यारेआना फ्लाईओवर पर प्रधानमंत्री का काफिला लगभग 15-20 मिनट तक रूका रहा। यहां से भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा मात्र 30 किमी दूर है, यह क्षेत्र काफी संवेदनशील माना जाता है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा की अनदेखी से आमजनों में भारी आक्रोश है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि आज पंजाब में कांग्रेस सरकार द्वारा की गई शर्मनाक हरकत को पंजाब कभी माफ नहीं करेगा। भारत के प्रधानमंत्री सड़क पर रोकने की साजिश की गई। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री को लगभग 20 मिनट फ्लाईओवर पर रोकना, देश का अपमान है। यह देश के संघीय ढांचे की अनदेखी एवं पंजाब सरकार द्वारा आंतरिक सुरक्षा से समझौता किया गया है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पंजाब के प्रदेश मंत्री कुदरत जोत कौर ने कहा कि पंजाब कांग्रेस के मुखिया नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाकिस्तान के जनरल बाजवा को गले लगाना एवं पंजाब सरकार द्वारा पाकिस्तान के पक्ष में हमेशा बयान देना तथा प्रधानमंत्री के काफिले को रोक दिया जाना। इन सब कृत्यों में पंजाब कांग्रेस सरकार की संलिप्त्ता दर्शाता है। जब से पंजाब में चरणजीत चन्नी मुख्यमंत्री बने हैं तब से पंजाब में देश विरोधी ताकतों का साहस इतना बड़ा है कि प्रधानमंत्री के काफिले को भी रोक दिया गया, जिससे पंजाब में अस्थिरता माहौल पैदा हुआ है। यह सरकार देश के प्रधानमंत्री की रक्षा नहीं कर सकती है तो आम जनता की रक्षा कैसे करेंगे ? कांग्रेस सरकार ने आज पंजाब को शर्मसार किया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इस कृत्य की कड़े शब्दों में निंदा करती है।

READ  वीरभूम : अभाविप ने भरा दो सौ अधिक गरीब एवं सुविधाहीनों का पेट, लोग कर रहे हैं तारीफ
×
shares