e-Magazine

एनआईआरएफ की रैंकिंग में एकबार फिर शीर्ष पर जेएनयू, अभाविप ने कहा गौरव का क्षण

छात्रशक्ति डेस्क

नई दिल्ली :  शुक्रवार(15 जुलाई) की सुबह शिक्षा मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय संस्थान रैंकिंग फ्रेमवर्क जारी किया गया। रैंकिंक फ्रेमवर्क को भारत सरकार के शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा जारी किया गया, जिसमें विश्वविद्यालयों की श्रेणी में बैंगलोर स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। वहीं जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। इसके अलावा स्थानों की समग्र श्रेणी में जेएनयू को दसवां स्थान प्राप्त हुआ है। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय(जेएनयू) का स्थान एक बार फिर शीर्षतम सूची में होने के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने शुभकामना जारी करते हुए कहा कि यह जेएनयू से संबंधित सभी व्यक्तियों के लिए हर्ष और गौरव का क्षण है।

अभाविप जेएनयू इकाई ने विश्वविद्यालय परिवार के प्रत्येक सदस्य को शुभकामनाएं प्रेषित की और कहा कि विगत वर्ष 2021 और 2020 में भी जेएनयू को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। किसी भी शिक्षण संस्थान के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वह शिक्षा की अपनी गुणवत्ता और उसकी रोचकता को शीर्ष पर स्थापित किए रखें। जेएनयू ने अपने इस गौरव को लगातार स्थापित किया है। निश्चित रूप से विश्वविद्यालय से संबंध रखने वाले सभी प्रत्येक सदस्य का महत्वपूर्ण योगदान है। इस अवसर पर अभाविप जेएनयू इकाई अध्यक्ष रोहित कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय शिक्षा के साथ साथ अन्य क्षेत्रों में श्रेष्ठ मानव संसाधन विकसित करने के लिए जाना जाता रहा है। देश भर से विद्यार्थी इसकी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए यहां प्रवेश प्राप्त करते हैं और विश्व स्तर पर देश का नाम आगे बढ़ा रहे हैं। कुछ विरोधी शक्तियां विश्वविद्यालय का नाम खराब करने की कोशिश करती हैं। NIRF की रैंकिंग ने उन्हें भी परास्त किया है।

READ  स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशकर का निधन हृदय विदारक : अभाविप

अभाविप जेएनयू इकाई मंत्री उमेश चंद्र अजमीरा ने कहा कि सभी विद्यार्थियों का यही लक्ष्य होना चाहिए कि जेएनयू को शीर्ष स्थान पर स्थापित रखने में अपना पूर्ण सहयोग सुनिश्चित करते रहें। विश्वविद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने और सीखने का सकारात्मक वातावरण बना रहे। अरावली की पहाड़ियों में स्थित इस मनोहर परिसर की वास्तिविक सुंदरता यहां पर हो रहे नवीन शोध से है, जो देश को नई दृष्टि देती जा रही है। इस सौंदर्य को बनाए रखना हम सभी की जिम्मेदारी है।

×
shares