e-Magazine

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सौंपा ज्ञापन

सीधी में विधि महाविद्यालय एवं एक अतिरिक्त महाविद्यालय खोलने हेतु दिया ज्ञापन
छात्रशक्ति डेस्क

सीधी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, महाकोशल प्रांत के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सीधी(म.प्र.) के शैक्षणिक विषयो को लेकर ज्ञापन सौंपा है। विद्यार्थी परिषद ने अपने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि सीधी जिले के समस्त सीमा क्षेत्र अंतर्गत एक भी विधि महाविद्यालय संचालित नहीं है, जिसके कारण विधि की पढ़ाई करने के लिए सभी छात्र / छात्रा अन्य जिलों जैसे रीवा में लगभग 700  छात्र-छात्रा प्रवेश लेने जाते हैं। क्योंकि सीधी जनजाति बाहुल्य क्षेत्र है और मध्यप्रदेश के निर्माण के तदोपरान्त बना हुआ जिला है और शिक्षा जगत में इस प्रकार की विभिन्नता सीधी जिले के युवाओं और छात्र छात्राओं के लिए अव्यावहारिक है। पूर्व में विधि महाविद्यालय का संचालन होता रहा है परंतु विगत कुछ वर्षों से शिक्षको की कमी के कारण यह महाविद्यालय संचालित नही है। शिक्षकों की उपलब्धता से ही विधि महाविद्यालय पुनः संचालित हो सकता है। परिषद ने यह भी कहा कि सीधी जिला केंद्र में संजय गांधी महाविद्यालय एक मात्र अग्रणी महाविद्यालय है, जिसमें सीधी जिले के साथ साथ सिगरौली से भी छात्र – छात्रा प्रवेश लेने आते हैं। महाविद्यालय में 5000 विद्यार्थियों के पठन – पाठन हेतु व्यवस्था है, किंतु 10000  से अधिक विद्यार्थियों का प्रवेश होता है। उसके बाद भी विद्यार्थी प्रवेश से वंचित रहते हुए भटकते रहते है। इतने अधिक छात्रों का कक्षा में बैठ पाना संभव नहीं होता, जिससे अध्ययन – अध्यापन का कार्य एवं शिक्षा की गुणवत्ता भी प्रभावित हो है, ज्ञापन देने क्रम में विद्यार्थी परिषद के सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

READ  कब मिलेगा लावण्या को न्याय ?
×
shares