e-Magazine

दिल्ली विश्वविद्यालय की विभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर अभाविप द्वारा “छात्र गर्जना रैली” का आयोजन

अजीत कुमार सिंह

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की “छात्र गर्जना रैली” एक साथ दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस व साउथ कैंपस में आयोजित की गई। रैली में सैकड़ों की संख्या में छात्रों ने सहभगिता की। विश्वविद्यालय में बेहतर अवसंरचना विकास, छात्रावासों की समस्या, छात्राओं के लिए सुदृढ़ सुरक्षा व्यवस्था आदि विषयों पर विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा शीघ्र समस्याओं के निवारण हेतु कदम उठाए जाने की मांग की गई। ‘छात्र गर्जना रैली’ में एबीवीपी के संभावित प्रत्याशी अंकिता बिस्वास, अपराजिता, भानु प्रताप सिंह, निशुल खर्ब, ऋषभ चौधरी, सचिन बैंसला, सारांश भाटी,सुशांत धनखड़, तुषार डेढ़ा उपस्थित रहे।

छात्र गर्जना रैली के माध्यम से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने विश्वविद्यालय परिसर के चारों ओर छात्रों के लिए विशेष बस सेवा, दिल्ली मेट्रो में रियायती पास, पूरक परीक्षाओं के आयोजन, स्नातकोत्तर छात्रों के लिए एक पाठ्यक्रम-एक शुल्क, विश्वविद्यालय के सभी महाविद्यालय परिसरों में प्लेसमेंट सेल की स्थापना तथा क्रियान्वयन, परिसर में स्त्री रोग विशेषज्ञ तथा मनोचिकित्सक की नियुक्ति, सभी महाविद्यालयों में एनसीसी की सुविधा, नए छात्रावासों का निर्माण, खिलाड़ियों के लिए संतुलित व नियोजित आहार, जर्जर स्थिति में पड़ी सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन की मरम्मत, सभी महाविद्यालयों में महिला छात्रावासों की स्थापना, कॉलेज कैंटीन  में भोजन की गुणवत्ता के सुधार एवं छात्रावासों के आवंटन हेतु केंद्रीकृत व्यवस्था का कार्यान्वयन आदि व्यवस्थाओं को उपलब्ध कराने की मांग की। अभाविप शैक्षिक परिवेश को सकारात्मक बनाने के लिए हमेशा प्रयत्नशील रहती है, इस वर्ष के छात्रसंघ चुनाव में भी आम छात्र के मुद्दों को मुखरता से रखा जाएगा।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दिल्ली प्रांत की प्रांत छात्रा प्रमुख शिवांगी खरवाल ने कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्रा संबंधित समस्याओं के शीघ्र निवारण हेतु मांग करती है। आज दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्राओं के लिए छात्रावासों की अनुपलब्धता के चलते उन्हें काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। परिसर में सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन की कमी है। विभिन्न मूलभूत सुविधाओं की कमी के चलते महिलाओं की पढ़ाई बाधित न हो, इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन को जल्द कड़े कदम उठाने होंगे।

READ  DUSU and SFD Came Together to Raise Environmental Awareness with 'YOUTH WALK'

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दिल्ली प्रांत के प्रांत मंत्री हर्ष अत्री ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय देश के प्रमुख विश्वविद्यालयों में से एक है, जिसने समय-समय वैश्विक फलक पर भारत की कीर्ति बढ़ाने का कार्य किया है। इसके बावजूद आज अवसंरचनात्मक विकास में विश्वविद्यालय काफी पीछे है, विषयों के लिए अलग-अलग शुल्क लगते हैं, एक पाठ्यक्रम-एक शुल्क व्यवस्था को लागू करने की जरूरत है तथा मांगों में सम्मिलित विभिन्न शैक्षिक मुद्दों के निवारण हेतु जल्द काम करने की आवश्यकता है।

×
shares