e-Magazine

दिल्ली : अभाविप ने राष्ट्रीय युवा दिवस पर आयोजित किए विभिन्न कार्यक्रम

छात्रशक्ति डेस्क

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने शुक्रवार को दिल्ली के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में भिन्न -भिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से स्वामी विवेकानंद जी की जयंती को  राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया। विभिन्न कार्यक्रमों के क्रम में दिल्ली विश्वविद्यालय के कला संकाय में विद्यार्थी परिषद ने विकसित भारत @2047 विषय पर एक संगोष्ठी आयोजित की जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता मोनिका अरोड़ा ने विकसित भारत -2047 की अवधारणा पर व्याख्यान देते हुए कहा कि, हमें सपना देखना चाहिए तथा उसके लिए दृढ़ संकल्पित होकर काम करना चाहिए। स्वामी जी के प्रेरक विचार हम सभी के लिए अनुकरणीय है उनके विचारों को आत्मसात कर हम विकसित भारत बना सकते हैं। तो वहीं विशिष्ट अतिथि के रुप में उपस्थित अभाविप दिल्ली के प्रांत अध्यक्ष अभिषेक टंडन ने कहा कि, हमारे देश ने कोरोना महामारी से लेकर अनेक मुश्किलों में भी निरंतर विकास कर पूर्णतः आत्मनिर्भर बनने की ओर अग्रसर है।ये स्वामी जी के ही विचार है जो हमें आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित करते हैं। हमारा भारत स्वामी जी के विचारों पर चलकर ही विकसित भारत बन सकता है। हम सभी युवाओं को उनको पढ़ना चाहिए तथा उनके विचारों को अपने जीवन में उतारना चाहिए।

अभाविप की राष्ट्रीय मंत्री शिवांगी खरवाल ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी का जीवन एवं उनके विचार युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत है। स्वामी विवेकानंद जी ने शिक्षा को लेकर जो विचार दिए वह आधुनिक जगत में शिक्षा की गूढ़ समस्याओ को अति सरल समाधान सिद्ध होते हैं। ऐसे महान पुरुष के विचारों को ध्येय मानकर विद्यार्थी परिषद हर वर्ष उनके जन्म जयंती 12 जनवरी को  ‘युवा दिवस’ के रूप में एवं 12 से 23 जनवरी को पूरे देश में युवा पखवाड़े के रूप में उत्सव मनाता है। इस दौरान विद्यार्थी परिषद् कला, शिक्षा, विज्ञान आदि से सम्बंधित प्रतियोगिताएं, कार्यक्रम एवं गोष्ठियों का आयोजन करता हैं। इसी क्रम में आज हमने दिल्ली में युवा दिवस के उपलक्ष्य में साउथ कैंपस विभाग के वसंत जिला में संगोष्ठी व खेल प्रतियोगिता का आयोजन, तो वहीं कॉलेज ऑफ़ वोकेशनल स्टडीज में वॉलीबॉल टूर्नामेंट प्रतियोगिता का आयोजन हुआ।

READ  #UnsungFreedomfighter : Tara Rani Srivastava

अभाविप दिल्ली के प्रान्त मंत्री हर्ष अत्री ने कहा कि विद्यार्थी परिषद् द्वारा देशभर में  प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला युवा पखवाड़ा छात्रों के बीच स्वामी विवेकानंद जी के विचारों का उत्सव है। आज हमने दिल्ली में इस उत्सव के माध्यम से अनेक कार्यक्रम आयोजित किए। जिसमें छात्रों की उत्साह पूर्ण सहभागिता प्राप्त हुई। इन कार्यक्रमों के माध्यम से छात्रों को स्वामी जी के विचारों पर चर्चा करने एवं आत्मसात करने का अवसर मिल सके। आधुनिक भारत में शिक्षा के सम्बन्ध में स्वामी जी के विचार विद्यार्थियों को राष्ट्र के सकारात्मक विकास में योगदान के लिए उनके विचारों को पढ़ना एवं उनका प्रचार-प्रसार करना चाहिए।

 

×
shares