e-Magazine

रसोई से लेकर समाज के उच्च स्तर तक महिलाओं की भागीदारी – निधि त्रिपाठी

छात्रशक्ति डेस्क

लखनऊ(13 सितंबर)। “भारत में छात्राओं की भूमिका : अवसर एवं चुनौतियां” विषय पर आयोजित वर्चुअल छात्रा सम्मेलन को संबोधित करते हुए अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि आज के परिवेश में छात्राओं को अवसाद की भावना से निकलकर समाज के निर्माण में अपनी भूमिका का निर्वहन करना होगा। अपने सामाजिक दायित्वों के साथ सामाजिक सरोकारों से जुड़कर, अपने इतिहास को समझकर, अपनी संस्कृतियों को समझकर व पुरातन इतिहास की उपलब्धियों को जानकर देश के पुनर्निर्माण में योगदान देने की आवश्यकता है।

छात्राओं के योगदान पर निधि त्रिपाठी ने कहा कि आर्थिक सामाजिक व सांस्कृतिक विरासत को समझकर उनमें विकास की अवधारणाओं को ध्यान में रखते हुए अपना योगदान छात्रा बहनों को देना होगा । भारत की शिक्षा पद्धति भारत की संस्कृति व सभ्यता पर सदैव से महिलाएं केंद्र बिंदु में रही हैं उनके द्वारा इन सभी मूलभूत अवधारणाओं को सदैव ही जागृत रखने का प्रयास किया गया है आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में आत्म स्वाभिमान व स्वावलंबन से छात्राओं को वह कल फाल लोकल की भूमिका के केंद्र बिंदु में आकर अपना योगदान देना होगा । भारत की छात्राओं व महिलाओं को सरकार की रोजगार की योजनाएं व संभावनाओं को जनमानस में बताना होगा जिससे आम महिलाएं अपनी दक्षता के माध्यम से समाज के निर्माण में व रोजगार में अपना योगदान दे सकें ।

उन्होंने कहा कि छोटे छोटे उद्योगों से स्थानीय आवश्यकतानुसार जरूरत की वस्तुओं के निर्माण में अपनी भूमिका का निर्माण कर हम अपनी दक्षता के उपयोग से समाज में रोजगार विकसित कर सकते हैं और आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना आज भारत का आम नागरिक कर रहा है उसमें महिलाओं की अग्रणी भूमिका प्रभावित होने वाली है हमारे देश की प्रमुख संघर्षों में महिलाओं की भूमिका सदैव ही दृष्टिगोचर होती है रसोई से लेकर घर की दैनिक उपभोग की वस्तुएं से महिलाओं का दायित्व प्रारंभ होता है जो आज समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उनकी उपस्थिति के माध्यम से महिला सशक्तिकरण की बात को प्रत्यक्षीकरण भी करता है और प्रमाणित भी करता है आज सभी संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए हम सभी को भारतवर्ष के पुनर्निर्माण में अपनी व्यापक भूमिका का निर्माण करने के लिए स्वावलंबी होकर अपनी सुरक्षा, सम्मान, स्वास्थ्य और स्वालंबन के लिए मुखर होना पड़ेगा और विद्यार्थी परिषद इन सभी विषयों को सदैव से ही समाज के संज्ञान में लाती रही है।

READ  राष्ट्र प्रथम हो ध्येय हमारा

कार्यक्रम की प्रस्तावना व स्वागत भाषण महानगर उपाध्यक्ष डॉ मंजुला उपाध्याय, धन्यवाद ज्ञापन महानगर अध्यक्ष डॉ नीतू सिंह जी संचालन प्रांत छात्रा प्रमुख इशदीप कौर ने किया। लॉक डाऊन में महानगर की छात्रा कार्य के विषय में केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य व लखनऊ विश्वविद्यालय की इकाई उपाध्यक्ष अपर्णा मिश्रा ने संक्षिप्त जानकारी दी।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अभाविप के प्रांत अध्यक्ष डॉ सर्वेश सिंह, प्रांत संगठन मंत्री घनश्याम साही,राष्ट्रीय मंत्री राहुल वाल्मीकि,प्रांत मंत्री अंकित शुक्ला,प्रांत कार्यकारिणी के विशेष आमंत्रित सदस्य डॉ राकेश द्विवेदी, प्रांत उपाध्यक्ष संजय बाजपेई, लखनऊ महानगर मंत्री अभिमन्यु प्रताप सिंह, विभाग संगठन मंत्री अंशुल श्रीवास्तव, प्रांत कोषाध्यक्ष डॉ शिव कुमार मिश्रा, प्रांत कार्यालय मंत्री सत्यम मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

×
shares