e-Magazine

कोचिंग संस्थानों के नियमन सहित विभिन्न मांगों को लेकर अभाविप ने भरी हुंकार, किया मुख्यमंत्री आवास का घेराव

अजीत कुमार सिंह

नई दिल्ली : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में दिल्ली के विद्यार्थियों ने सैंकड़ो की संख्या में दिल्ली में चल रहे कोचिंग संस्थानों के नियमन सहित विभिन्न मांगों को लेकर मंगलवार 27 जून को दिल्ली के सिविल लाइन स्थित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास का घेराव किया।

अभाविप ने मुखर्जीनगर कोचिंग संस्थान अग्निकांड में घायल छात्रों को मुआवजा देने, दिल्ली में बेतहाशा बढ़ रहे कमरों के किरायों को नियंत्रित करने के लिए किराया नियंत्रण अधिनियम लागू करने, फायर सेफ्टी नियमों का उल्लंघन करने वाले कोचिंग संस्थानों पर कार्रवाई की मांग लेकर दिल्ली सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। दिल्ली सरकार की शिक्षा क्षेत्र व प्रतियोगी छात्रों की समस्याओं को लेकर अनदेखी से गुस्साए छात्रों ने एक घंटे महात्मा गांधी रोड जाम कर दी और शीघ्र समस्याओं के समाधान की मांग की।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के इस प्रदर्शन में दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय सहित दिल्ली के अलग-अलग शैक्षणिक संस्थानों के छात्रों सहित प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों ने सहभागिता की। प्रदर्शन के उपरांत एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री आवास पर समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।
अभाविप दिल्ली के प्रदेश मंत्री हर्ष अत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार छात्रों के मुद्दों को लेकर गंभीर नहीं है। मुखर्जी नगर में कोचिंग संस्थान में आग लगने की घटना के बाद हुई जांच से स्पष्ट हुआ है कि अधिकांश कोचिंग संस्थान बिना सुरक्षा मानकों के चल रहे हैं‌। यह स्पष्ट ही दिल्ली सरकार की लापरवाही को दिखाता है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मांग करती है कि कोचिंग संस्थानों के नियमन के लिए बोर्ड गठित किया जाए और बिना मानक चल रहे कोचिंग संस्थानों पर कार्रवाई हो। छात्रों की सुरक्षा के साथ कोई खिलवाड़ न किया जाए।
अभाविप दिल्ली की प्रांत छात्रा प्रमुख व डूसू सह-सचिव शिवांगी खरवाल ने कहा कि दिल्ली में कमरों के बढ़ते किराए व मनमानी के कारण छात्रों को बहुत समस्याएं हो रहीं हैं। कमरों के किराए को नियंत्रित करने के लिए सरकार को नियम बनाने चाहिए, जिससे अप्रत्याशित किराया वृद्धि को रोका जा सके। दिल्ली सरकार एक तरफ तो शिक्षा की बेहतरी की बात करती है, परंतु दूसरी ओर बड़ी संख्या में छात्र परेशानियों से जूझ रहे हैं,उस पर दिल्ली सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में आज छात्रों ने जोरदार प्रदर्शन किया है,अगर दिल्ली सरकार हमारी मांगे नहीं मानती तो हम फिर प्रदर्शन को बाध्य होंगे।

READ  राष्ट्र गौरव का अमृत पर्व
×
shares